आज के युवाओं के समग्र विकास को सक्षम बना रहा है टिकटॉक

टिकटॉक एक ऐसा प्लैटफॉर्म है जहां विभिन्न प्रकार के विषयों पर शॉर्ट फॉर्म मोबाइल वीडियो शेयर किए जाते हैं। 150 से ज्यादा मार्केट्स में और 75 भाषाओं में टिकटॉक उपलब्ध है। टिकटॉक का उद्देश्य रचनात्मकता के लिए प्रेरित करना और खुशियाँ लाना है, यह सच्चे, रोचक और मज़ेदार मोबाइल वीडियो के छोटे प्रकार बनाने और खोज़ने का एक ठिकाना है, जिससे आपका दिन बन जाए। इसके साथ ही टिकटॉक एक ऐसा समुदाय है जहाँ किसी भी यूज़र का स्वागत है चाहे वो किसी भी राष्ट्रीयता, जातीयता, लिंग या सामाजिक-आर्थिक स्तर का हो।

युवा यूज़र्स को ज़्यादा जागरुक बनाने और उनके समग्र विकास की दिशा में योगदान देने के लिए इस प्लैटफॉर्म का इस्तेमाल करने हेतु टिकटॉक प्रतिबद्ध है। इस उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए टिकटॉक ने #एडुटॉक  कार्यक्रम की शुरुआत की है। इस अभियान के ज़रिए टिकटॉक चाहता है कि यूजर्स विभिन्न विषयों पर अर्थपूर्ण और प्रासंगिक कंटेंट तैयार करें और देशभर के युवाओं के सामने इसे प्रस्‍तुत करें। इसी के साथ इस अभियान की मंशा अनिवार्य कौशल के साथ युवाओं का मार्गदर्शन करने की है। इस मकसद को आगे बढ़ाने के लिए टिकटॉक ने जोश टॉक्स और द नज फाउंडेशन जैसे शीर्ष सामाजिक उद्यमों के साथ मेन्टॉरशिप प्रोग्राम    शुरु करने के लिए सहयोग किया है। इस कार्यक्रम के तहत पहली बार इंटरनेट इस्तेमाल करने वालों को मार्गदर्शन करने और विभिन्न टिकटॉक क्रिएटर्स और अन्य शैक्षणिक संस्थाओं द्वारा तैयार किए गए उच्च गुणवत्तावाली शैक्षणिक सामग्री तक पहुँच प्राप्त करने में  सहायता उपलब्ध कराने का इरादा है। मेन्टॉरशिप कार्यक्रम के एक हिस्से के रुप में जोश टॉक्स द्वारा अक्‍टूबर 2019 से मार्च 2020 तक 6 महीनों से ज्यादा अवधि में  25 #एडुटॉक   वर्कशॉप्स आयोजित किए जाएंगे। देशभर से लगभग 5000 रचनात्मक व्यक्तियों को इसके लिए चुना जाएगा और मौजूदा और लोकप्रिय #एडुटॉक क्रिएटर्स द्वारा उन्हें प्रायोगिक प्रशिक्षण उपलब्ध भी कराया जा चुका है। 

नज फाउंडेशन सहभागियों के लिए आवश्यकतानुसार सामग्री तैयार करेगी जिसमें सॉफ्ट स्किल्स, स्किल डेवलपमेंट, आइडेंटिटी बिल्डिंग, जॉब रेडीनेस और कॅरियर प्लानिंग जैसे अनिवार्य विषय शामिल होंगे। ये वर्कशॉप्स बिहार, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, राजस्थान, झारखंड और जम्मू सहित 6 राज्यों में आयोजित किए जाएंगे। प्रत्येक वर्कशॉप में 200 टिकटॉक यूज़र्स उपस्थित होंगे। दर्शकों की अधिकतम उपस्थिति दर्ज कराने के लिए टिकटॉक  क्रिएटर्स द्वारा इसका संचालन मातृभाषाओं में किया जाएगा। इन क्रिएटर्स ने टिकटॉक पर प्रेरणा (मोटिवेशन), भाषा कौशल, स्वास्थ्य और फिटनेस इन विषयों पर रोचक सामग्री तैयार कर युवाओं को प्रेरित किया है। 

टिकटॉक ने भारतीय युवाओं के कौशल विकास में सहायता के लिए नेशनल स्किल डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन (एनएसडीसी) के साथ सहयोग किया है। इसके यूज़र्स को भारत में उपलब्ध सरकार द्वारा चलाए जा रहे कौशल विकास कार्यक्रम और विभिन्न व्यावसायिक प्रशिक्षण   के बारे में जानकारी देने के लिए एनएसडीसी टिकटॉक प्लैटफॉर्म का लाभ उठाते हुए और #Skills4all नामक इन-ऐप कार्यक्रम का इस्तेमाल करेगी। यह भागीदारी भारत की रचनात्मक अर्थव्यवस्था को सक्षम करने के टिकटॉक के मिशन के अनुरूप है जिसमें 20 करोड़ यूज़र्स को विभिन्न कैटेगरी में उनकी प्रतिभा और कौशल को प्रदर्शित करने के लिए एक वैश्विक प्लैटफॉर्म उपलब्ध कराया जाएगा। टिकटॉक को उम्मीद है कि पेश किये जा रहे विभिन्न व्यावसायिक कार्यक्रमों के बारे में टिकटॉक यूज़र्स को शिक्षित कर कौशल आपूर्ति की मौजूदा कमी को भरने में एनएसडीसी की मदद की जा सकेगी। ‘स्किल इंडिया’ के विज़न को हासिल करने के लिए एनएसडीसी विभिन्न लाभकारी व्यावसायिक संस्थाओं के ज़रिए कौशल विकास को बढ़ावा देगी, जागरुकता फैलाएगी और युवाओं को स्केल, स्पीड और हाई क्‍वॉलिटी के साथ प्रशिक्षण उपलब्ध कराएगी। वर्तमान में इस कैम्पेन को 6.3 बिलियन व्यूज़ प्राप्त हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *